relation men women

What Is Between Men And Women? Havas or Pyar? In Hindi

मुझे मालूम है की आप ने सोचा होगा की मै बहुत बड़ी बड़ी बाते करूँगा, कुछ रोमांटिक बाते करूँगा जिससे आपकी हवस और बढ़ जाए, आप ऐसे बाते सिर्फ अपनी हवस और कल्पना को महसूस करने के लिए पढ़ते है. बाकि आपको सच और गलत से कोई मतलब नहीं है. लेकिन अफ़सोस की मैं यहाँ आपकी मनपसंद बाते बोलने नहीं आया जो सच है वही बोलने आया हु. टेंशन मत लो मै सब पॉइंट साबित करके दिखाऊंगा.

क्यों पुरुष और महिला को एक दूसरे की जरुरत है?

वैसे जवाब तो आप पहलेसेही जानते है, पर मै उसमे अब थोड़ा और घी डालने वाला हु. कुदरत के नियमोंके अनुसार महिला और पुरुष की शरीर की रचना बहुत अलग है, कुदरत इस दुनिया को बनाये रखने में सहायता करती है, तो वो शायद प्यार से या जबरन. कुदरत को कुछ लेना देना नहीं है की आप प्यार करने वाले से सम्भोग करे या नफरत करने वाले से. दोनों परिस्थितियोमे आप कुदरत के नियम के साथ चल रहे है. पुरुष के पास वह है जो एक महिला के पास नहीं और महिला के पास वह है जो एक पुरुष के पास नहीं.

यह दोनों जिव एक ही नसल के है, अगर और एक नसल बन जाये तो महिला और पुरुष का आकर्षण कम हो जायेगा. कुदरत के अनुसार इस दुनिया को चलाने के लिए आपसे आगे भी कोई होना चाहिए इसलिए पुरुष और महिला का मिलन जरुरी है. और कुदरत के सामने कभी किसीकी चली नहीं और नाही कभी चलेगी. अगर आपसे आगे इंसान के नसल को बरकरार रखना है तो बच्चे पैदा हो जाने चाहिए और जब महिला और पुरुष का सम्भोग होगा तभी तो आगे बच्चे पैदा होंगे और बच्चे पैदा होने के लिए अलग सेक्स के लोग होने चाहिए इसलिए महिला और पुरुष इन दोनोंको एकदूसरे की जरुरत है.

क्यों प्यार सिर्फ महिला और पुरुष में होता है?

ऐसा कुछ भी नहीं है, प्यार की परिभाषा बहुत अलग है. जैसे मैंने अभी आपको ऊपर समझाया के क्यों पुरुष और महिला को एक दूसरे की जरुरत है , उसमे ही जवाब छुपा है. देखो कुदरत को कुछ लेना देना नहीं आप कैसे एक दूसरे के पास आते है. अगर आप बहुत नाटक करेंगे तो कुदरत धीरे धीरे आपके दिमाग को बदलने का काम शुरू कर देगी.

यहाँ पे जिस प्यार की बात हो रही है वह बहुत अलग है. पुरुष महिला के बिच जो प्यार का नाता है उसमे सबसे पहले सम्भोग को पकड़ा जाता है. भलेही आप किसीकी बॉडी या खूबसूरती देखकर प्यार कर रहे हो लेकिन अंत मै आप एक ही चीज़ चाहते हो और वह है सम्भोग. अभी कुछ लोग मुझे गलत साबित करना चाहेंगे पर अगला पॉइंट पढ़ो और समझ जाओगे की मै क्या बताना चाहता हु.

महिला और पुरुष एक दूसरी की जरुरत है

शायद कुछ लोगोंको चटनी लग सकती है लेकिन यह बात ज्यादा प्रैक्टिकल है. आपने बस प्यार के सहारे अपनी जरुरत पूरी करनी चाही है. अगर प्यार से मिला तो सही नहीं तो बिना प्यार के भी जरुरत पूरी कर लेंगे. अब रेडज़ोन में जाने के लिए थोड़ी न प्यार की जरुरत है वह तो तुम्हारे शरीर की जरुरत है जिसे तुम पूरी करने की कोशिश करते हो.

अगर अभी भी मेरी बाते गलत लगती है तो बताओ क्यों कोई प्रेमी कल मिले हुए लोंडे के लिए अपने 10 साल पुराने दोस्त को इग्नोर करता है. अगर प्यार ही है तो सबसे पहले दोस्त को खुश रखना चाहिए प्रेमी को नहीं. लेकिन अफ़सोस तुम्हारे दोस्त के पास वह नहीं है जो तुम्हारे प्रेमी के पास है.

तुम्हारा 10 साल पुराना दोस्त चाहकर भी वह तुम्हे तुम्हारे प्रेमी की तरह खुश नहीं कर सकता. अब और सुनिए, जब तुम्हे सम्भोग की बहुत इच्छा हो जाती है तब तुम कतई नहीं देखोगे के सामने वाला इंसान देखने में कैसा है. तुम बस तुम्हारी जरुरत पूरी करना चाहोगे. क्यों एकदम सही पकड़े है ना.

क्या महिला और पुरुष के बिच प्यार का कोई मतलब नहीं?

जरूर मतलब है, और जहा मतलब होता है वह क्या होगा आप अच्छेसे से जानते है. मतलब बहुत साफ़ है, जो चीज़ तुम्हे कोई और नहीं दे सकता लेकिन प्रेमी दे सकता है, तो जाहिर सी बात है की आपको वह इंसान अच्छा लगने लगेगा. प्रेमी ही नहीं अगर मै भी तुम्हारी हेल्प करूँगा तो तुम्हे मै भी अच्छा लगने लगूंगा. लेकिन वह यहाँ पर भी मै वह चीज़ नहीं दे सकता जो एक प्रेमी दे सकता है.

तो मै चाहे कितनी भी मदत करू लेकिन आप सबसे ज्यादा उसीकी तारीफ़ करंगे जो आपकी शारीरिक जरूरते पूरी करेगा क्योकि अंत वही होता है. तुम चाहे कितनी ही खुशिया ढूंढ लो अंत तो आखिर सम्भोग के ख़ुशी में ही पूर्ण हो जाओगे. गलत लगता है तो थोड़ा बाहर जाकर देखो, अमीर हो या गरीब, साइंटिस्ट हो या दुकानवाला यह सब आखिर एक ही ख़ुशी को अंत मे चाहते है और वह है प्रेमी के साथ सम्भोग.

तो पुरुष और महिला में प्यार का कुछ रोल है या नहीं

इस दुनिया में हर एक चीज का रोल है, प्यार आपको मदत करता है आपका मन पसंद साथी चुनने के लिए. जैसे किसीको गुलाब या फिर चमेली पसंद है. अब यह जो पसंद ना पसंद की चॉइस है, वह आपने कैसे की? किसीको BMW पसंद है तो किसीको AUDI इसी तरह कौनसा इंसान पसंद आएगा उसमे प्यार का बहुत बड़ा रोल है. इसका मतलब यह नहीं है की आप बिना प्यार वाले के साथ सम्भोग नही कर सकते.

आधी से भी ज्यादा दुनिया बिना प्यार वाले के साथ ही तो जिंदगी बिता रहे है. प्यार से बस एक ही मदत हो जाएगी जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है, और वह है की आपको आपके मनपसंद साथी के साथ ज्यादा अच्छा लगेगा. जिस वजहसे सम्भोग को प्यार के साथ जोड़ दिया गया है.

निष्कर्ष

हम चाहे दुनिया इधर की उधर कर दे लेकिन लोग यह बाते मानने को राजी नहीं होगे. वह इसलिए नहीं की हम झूट बोल रहे है, बल्कि इसलिए की वह खुदकी सचाई को खुद देखना नहीं चाहते. वह इन सबमे कोई बात झूट साबित नहीं कर सकते और खुद सच का सामना भी नहीं कर सकते. लेकिन कोई बात नहीं एक आखरी बात कहना चहुंगा जाते जाते. ऊपर बताई गयी सारि बाते वैज्ञानिक रूप से सिद्ध कर दियी गयी है.

Read also: Break up recovery tips in Hindi
Read also: Success tips in Hindi | सफलता ही सफलता होगी|

Posted in स्वास्थ्य हिंदी में.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *